Best Tourist Places to Visit in Haridwar in Hindi: यदि आप हरिद्वार की यात्रा पर जाने का प्लान बना रहें हैं तो आपको हरिद्वार में घूमने की जगह कौन-कौन सी है के बारे में जरुर पता होना चाहिए हम आपको इस लेख में हरिद्वार पर्यटन की पूरी जानकरी देने जा रहें हैं। हरिद्वार उत्तराखंड राज्य की पहाड़ियों के बीच स्थित एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। हरिद्वार या हरद्वार को हिंदुओं के सात पवित्रतम स्थानों (सप्त पुरी) में से एक माना जाता है। हरिद्वार का शाब्दिक अर्थ है- भगवान तक पहुंचने का रास्ता। यही कारण है कि यह शहर अपने धार्मिक महत्व के कारण अधिक लोकप्रिय है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने इसी स्थान पर अपनी जटा खोलकर गंगा को नदी को मुक्त किया था। गौमुख से 253 किलोमीटर (157 मील) तक बहने के बाद गंगा नदी पहली बार हरिद्वार में गंगा के मैदान में प्रवेश करती है, इस कारण हरिद्वार को इसके प्राचीनतम नाम गंगाद्वार था। माना जाता है कि उज्जैन, नासिक और प्रयागराज (इलाहाबाद) के साथ ही हरिद्वार भी उन चार स्थलों में से एक है, जहाँ आकाशीय पक्षी गरूड़ के घड़े से अमृत की बूंदें छलकी थीं। इस कारण हरिद्वार में प्रत्येक 12 वर्ष पर कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है। आइये जानते हैं हरिद्वार में घूमने और देखने की जगह कौन-कौन सी है और उनके बारे में क्या खास है।

हरिद्वार में घूमने की प्रमुख जगह – List Of Tourist Places In Haridwar In Hindi

1. हरिद्वार में घूमने की प्रमुख जगह हर की पौड़ी – Har Ki Pauri Tourist Place In Haridwar In Hindi

हरिद्वार में घूमने की प्रमुख जगह हर की पौड़ी - Har Ki Pauri Tourist Place In Haridwar In Hindi

हर की पौड़ी, हरिद्वार के पांच मुख्य पवित्र स्थलों में से एक है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, यह माना जाता है कि इस स्थान पर भगवान शिव और भगवान विष्णु प्रकट हुए। तब से यह स्थान पवित्र माना जाता है।

हर की पौड़ी, जिसे ब्रह्म कुंड के नाम से जाना जाता है, का निर्माण राजा विक्रमादित्य ने अपने भाई, ब्रिथरी की याद में करवाया था। प्रत्येक बारह वर्षों के बाद, हिंदुओं का शुभ मेला, कुंभ मेला, इस स्थान पर आयोजित किया जाता है। हर की पौड़ी गंगा आरती के लिए प्रसिद्ध है। हर की पौड़ी उसी स्थान पर है जहां दिव्य अमृत आकाशीय कुंभ से गिरा था। इस घाट पर स्थित दो प्रसिद्ध मंदिर गंगा मंदिर और हरिचरण मंदिर आकर्षण का केंद्र हैं।

2. चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य हरिद्वार में घूमने की जगह – Chilla Wildlife Sanctuary Tourist Spot In Haridwar In Hindi

चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य हरिद्वार में घूमने की जगह - Chilla Wildlife Sanctuary Tourist Spot In Haridwar In Hindi

हरिद्वार पर्यटन स्थल में देखने के लिए चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य एक अच्छी जगह है गंगा नदी के पूर्वी तट पर स्थित चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य 249 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। इस वन्यजीव की स्थापना 1977 में  की गई थी और इस अभयारण्य को 1983 में मोतीचूर और राजाजी अभ्यारण्यों से जोड़ा गया था ताकि राजाजी राष्ट्रीय उद्यान बनाया जा सके। चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य हरिद्वार से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस अभ्यारण्य में हाथी, बाघ, भालू और छोटी बिल्लियां,बड़ी संख्या में हाथियों और विभिन्न प्रकार के पक्षी हैं। इस अभयारण्य की यात्रा का सबसे अच्छा समय नवंबर और जून के बीच होता है। यहां पर्यटकों के लिए हाथी की सवारी के साथ ही वन्यजीव सफारी भी उपलब्ध है।

3. मनसा देवी मंदिर हरिद्वार, उत्तराखण्ड में बेहतर टूरिस्ट प्लेस – Mansa Devi Temple Tourist Place In Haridwar In Hindi

मनसा मनसा देवी मंदिर हरिद्वार, उत्तराखण्ड में बेहतर टूरिस्ट प्लेस - Mansa Devi Temple Tourist Place In Haridwar In Hindi

मनसा देवी मंदिर हरिद्वार के मुख्य टाउनशिप से 2.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। शिवालिक पहाड़ियों पर बिल्वा पर्वत (Bilwa Parvat) के ऊपर स्थित, मनसा देवी उत्तर भारत में सबसे अधिक प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। मनसा देवी नाग वासुकी की पत्नी थीं और मंदिर को देवी मनसा का घर माना जाता है।

मनसा देवी मंदिर में आने वाले भक्तों को एक पवित्र धागे को पवित्र पेड़ से बांधना पड़ता है। यह भक्तों की इच्छाओं को पूरा करने के लिए बांधा जाता है। एक बार जब इच्छा पूरी हो जाती है, तो यहां आकर भक्तों को पवित्र धागे को खोलना भी पड़ता है। चूंकि मनसा देवी का मंदिर पर्वत पर स्थित है इसलिए निचले स्टेशन से केबल कार या रोपवे द्वारा मंदिर तक पहुंचा जाता है। यह मंदिर जमीन से 178 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

4. हरिद्वार में घूमने का पिकनिक स्पॉट क्रिस्टल वर्ल्ड – Crystal World Haridwar Mein Ghumne Wali Jagah In Hindi

हरिद्वार में घूमने का पिकनिक स्पॉट क्रिस्टल वर्ल्ड - Crystal World Haridwar Mein Ghumne Wali Jagah In Hindi

क्रिस्टल वर्ल्ड को हरिद्वार का ‘बेस्ट एंटरटेनमेंट डेस्टिनेशन’ माना जाता है। गंगा की पवित्र भूमि में 18 एकड़ भूमि पर फैले क्रिस्टल वर्ल्ड वाटर पार्क में 18 से अधिक रोमांचकारी जल की सवारी कर सकते हैं। इसके अलावा कई अन्य खेलों और गतिविधियों के अलावा यहां प्रसिद्ध 5 डी वाटर राइड भी उपलब्ध है। पार्क को निजी पार्टियों, शादियों और अन्य कार्यों की मेजबानी करने के लिए भी जाना जाता है। परिवार के साथ यहां अच्छा समय बिताया जा सकता है।

5. भारत माता मंदिर हरिद्वार का टूरिस्ट डेस्टिनेशन – Bharat Mata Mandir Tourist Destination In Haridwar In Hindi

भारत माता मंदिर हरिद्वार का टूरिस्ट डेस्टिनेशन - Bharat Mata Mandir Tourist Destination In Haridwar In Hindi
Image Source: uttarakhandarshann.blogspot.com

इस मंदिर को मदर इंडिया टेम्पल (Mother India Temple) के नाम से भी जाना जाता है। इस धार्मिक मंदिर की स्थापना स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि ने की थी। 1983 में इस मंदिर का उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने किया था। सप्त सरोवर में स्थित इस मंदिर में हर साल बड़ी संख्या में भक्त आते हैं। भारत माता मंदिर 180 फीट ऊंचा और आठ मंजिला है। इस मंदिर का प्रत्येक तल से देवताओं की पौराणिक कथाओं जुड़ा है। भारत माता मंदिर उन सभी देशभक्त स्वतंत्रता सेनानियों को भी समर्पित है, जिन्होंने देश की स्वतंत्रता में योगदान दिया।

6. हरिद्वार में घूमने की जगह सप्तऋषि आश्रम – Sapt Rishi Ashram Haridwar Mein Ghumne Ke Sthan In Hindi

हरिद्वार में घूमने की जगह सप्तऋषि आश्रम - Sapt Rishi Ashram Haridwar Mein Ghumne Ke Sthan In Hindi

सप्तऋषि आश्रम हर की पौड़ी से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह हरिद्वार के सबसे प्रसिद्ध आश्रमों में से एक है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार जहां सात महान ऋषि या सप्त-ऋषि, कश्यप, वशिष्ठ, अत्रि, विश्वामित्र, जमदग्नि, भारद्वाज और गौतम ध्यान करते थे, उसी जगह पर यह आश्रम स्थित है। माना जाता है कि इस स्थान पर गंगा नदी अपने को सात धाराओं में विभाजित कर लेती है, जिससे कि यहाँ पर प्रवाहित होने वाले सात ऋषि उसके प्रवाह से विचलित नहीं होंगे। इस कारण इस स्थान को सप्त सरोवर या सप्त ऋषि कुंड के रूप में भी जाना जाता है। घूमने के लिए यह एक सर्वोत्तम स्थान है।

7. पतंजलि योग पीठ हरिद्वार में घूमने की जगह – Patanjali Yog Peeth Haridwar Mein Ghumne Ka Jagah In Hindi

पतंजलि योग पीठ हरिद्वार में घूमने की जगह - Patanjali Yog Peeth Haridwar Mein Ghumne Ka Jagah In Hindi

दिल्ली – हरिद्वार राजमार्ग पर कनखल में स्थित, पतंजलि योग पीठ संभवतः दुनिया भर में सबसे बड़ा योग आश्रम है। संस्थान ऋषि रामदेव की प्रमुख परियोजना है और इस केंद्र में योग और आयुर्वेद पर शोध किया जाता है। पतंजलि योग पीठ विशाल एकड़ भूमि में फैला हुआ है और इसे दो परिसरों में विभाजित किया गया है। यहीं से निर्मित पतंजलि के उत्पाद देश के कोने कोने में भेजे जाते हैं। हरिद्वार आने के बाद पतंजलि योग पीठ जरूर देखना चाहिए।यहां से आप सेहत और योग से जड़ी विभिन्न जानकारियां भी हासिल कर सकते हैं।

8. हरिद्वार में दार्शनिक स्थल पारद शिवलिंग – Parad Shivlinga Tourist Place In Haridwar In Hindi

पारद शिवलिंग हरिहर आश्रम, हरिद्वार में स्थित एक अद्वितीय धार्मिक स्थल है। पूरे मंदिर को भगवान शिव के शिवलिंग से सजाया गया है जो कि शुद्ध पारे के 151 किलो से बना है। यह मंदिर हजारों भक्तों और तीर्थयात्रियों द्वारा प्रतिवर्ष सजाया जाता है और इसे पारदेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है। मंदिर के अद्भुत नजारे को देखने के लिए यहां पर्यटकों की भारी भीड़ जमा होती है।

हरिद्वार कैसे पहुंचें – How To Reach Haridwar In Hindi

हरिद्वार कैसे पहुंचें - How To Reach Haridwar In Hindi

हरिद्वार भारत के उत्तर में स्थित है। तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल होने के कारण यहां आवागमन की बेहतर सुविधा उपलब्ध है। आप हवाई जहाज, बस या ट्रेन के जरिए हरिद्वार पहुंच सकते हैं।

हवाई जहाज से:

हरिद्वार का निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट एयरपोर्ट, देहरादून है। यह हवाई अड्डा हरिद्वार से 41 किमी की दूरी पर है। पर्यटक मुंबई या दिल्ली से देहरादून की हवाई यात्रा कर सकते हैं। इसके बाद एयरपोर्ट से टैक्सी या बस से हरिद्वार पहुंचा जा सकता है।

बस से:

दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश से सड़क मार्ग द्वारा हरिद्वार बहुत आसानी से पहुंचा जा सकता है। इन मार्गों से राज्य परिवहन की बसें जुड़ी हैं। आपको बता दें कि दिल्ली से हरिद्वार 222 किलोमीटर दूर है और कुल पांच से छह घंटों की बस की यात्रा पूरी करने के बाद आप यहां पहुंच सकते हैं।

ट्रेन से:

हरिद्वार का अपना रेलवे स्टेशन है जो भारत के कई भागों से जुड़ा हुआ है। यह स्टेशन दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, देहरादून, वाराणसी, पुरी और कोच्चि सहित कई अन्य शहरों से जुड़ा है। आप एक्सप्रेस ट्रेनों से हरिद्वार पहुंच सकते हैं।

“आपको हमारा ये लेख केसा लगा हमे कमेंट्स बॉक्स में जरूर बतायें, यदि पसंद आया तो अपने मित्रो में व सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें। इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी लाइक/फ़ॉलो कर सकते हैं।”

सिम्पी सिंह
संपादक – “न्यूज़ चौक
संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी – डील टुडेज