किसान आंदोलन को लेकर भारत की मशहूर हस्तियों की ओर से किए गए ट्वीट का मामला राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार इन ट्वीट्स की जांच कराने जा रही है कि कहीं मोदी सरकार के दबाव में तो इन सितारों ने यह ट्वीट नहीं किए हैं? इस मद्देनजर प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, अक्षय कुमार समेत अन्य सितारों द्वारा किए गए ट्वीट की जांच के आदेश दिए गए हैं।

वही बीजेपी इस मामले में उद्धव ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है, बीजेपी के फायरब्रांड नेता व केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देश का दुर्भाग्य देखिए ..रेहाना और मियाँ ख़लीफ़ा हिंदुस्तान के ख़िलाफ़ बोले तो ठीक..और देश का मस्तक ऊँचा करने वाले मणि लता दी और तेंदुलकर देश के पक्ष में जाए तो उनके ख़िलाफ़ जाँच.. आज हिंदुस्तान और मराठा सम्मान की हत्या हुई है ..वीर शिवा जी, शांभा जी, बाज़ीराव रो रहे होंगे।

वही बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि “बाप के आगे झुकता था महाराष्ट्र !

और बेटे पर थूक रहा है सारा राष्ट्र !! शर्म करो उद्धव ठाकरे”

ट्विटर पर यूजर लगातार गिरिराज सिंह और संतोष रंजन का समर्थन करते दिखे।
आपको बता दें पोर्नस्टार मियां खलीफा, अमेरिकी पॉप सिंगर रिहाना और पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग सहित कुछ विदेशी शख्सियतों ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया था, जिसके बाद लता मंगेशकर, सचिन तेंदुलकर और अक्षय कुमार सहित विभिन्न हस्तियों ने सोशल मीडिया पर ‘इंडिया टुगैदर’ और ‘इंडिया अगेन्स्ड प्रोपेगैंडा’ हैशटैग के साथ सरकार के समर्थन में।